witnessindia
Image default
national Politics Social

सीएए के खिलाफ प्रदर्शन तेज, लेफ्ट ने बुलाया ‘बिहार बंद’, दरभंगा में रोकी गईं ट्रेनें

नई दिल्ली (ईएमएस)। देश में नागरिकता संशोधन कानून (सीएएए) के विरुद्ध आंदोलन और प्रदर्शन का सिलसिला लगातार जारी है। आज वामपंथी पार्टियों ने भारत बंद का ऐलान किया है, राजधानी दिल्ली से लेकर बेंगलुरु, हैदराबाद से लेकर मुंबई तक कई प्रदर्शन भी जारी हैं। पिछले कई दिनों से इसके खिलाफ प्रदर्शन हो रहा है, दिल्ली के कुछ इलाकों में प्रदर्शन ने हिंसक रूप ले लिया था। केंद्र सरकार के द्वारा लाए गए इस कानून के विरोध में आज देश भर में हल्ला बोल हो रहा है। सीएए के विरोध में लेफ्ट पार्टियों के बुलाए गए बंद का बिहार में असर देखने को मिल रहा है। प्रदर्शनकारी यहां ट्रेनें रोककर और रेलवे ट्रैक को ब्लॉक करके प्रदर्शन कर रहे हैं। नागरिकता कानून और एनआरसी के विरोध में बिहार बंद के दौरान पटना और दरभंगा में ट्रेन रोकी गईं। इस बंद को कांग्रेस, आरएलएसपी, वीआईपी, एचएएम और पप्पू यादव की जन अधिकार पार्टी का भी समर्थन मिला है। राजधानी पटना के राजेंद्र नगर रेलवे स्टेशन में ऑल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन (एआईएसएफ) के सदस्यों ने सीएए और एनआरसी के विरोध में ट्रेन रोक दी। इस दौरान हाथ में पोस्टर लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं।

प्रदर्शनकारी यहां ट्रेनें रोककर और रेलवे ट्रैक को ब्लॉक करके प्रदर्शन कर रहे हैं।

दरभंगा में सीपीआई-एम के कार्यकर्ता नागरिकता कानून के विरोध में रेलवे ट्रैक पर ही बैठ गए। बंद के असर को देखते हुए पटना में रेल प्रशासन ने राजेंद्र नगर जंक्शन समेत सभी स्टेशनों पर सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद कर दी है। बंद के दौरान पटना के बांकीपुर बस स्टैंड से खुलने वाली अधिकतर बसें खाली रहीं और यात्रियों का इंतजार करती रहीं। दरभंगा में बिहार संपर्क क्रांति को रोक दिया गया। कई कार्यकर्ताओं ने अर्धनग्न होकर प्रदर्शन किया। ‘बिहार बंद’ को लेकर प्रदेश में विपक्ष दलों के महागठबंधन में दो फाड़ हो गया है। सीएए को लेकर वाम दल जहां गुरुवार को बंद बुलाया, वहीं राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) ने 21 दिसंबर को ‘बिहार बंद’ की अपील की। दिलचस्प यह है कि अब दोनों दल बंद का आह्वान सबसे पहले करने का दावा कर रहे हैं। बता दें कि सीएए के विरोध में राजधानी पटना में महागठबंधन के बड़े नेताओं ने ‘बिहार बंद’ को लेकर आम सहमति के लिए बैठक भी की, जिसमें आरजेडी समेत अन्य विपक्षी दलों के नेताओं ने भाग भी लिया लेकिन महागठबंधन में ‘बिहार बंद’ को लेकर सहमति नहीं बन पाई। वाम दल और आरजेडी अपनी-अपनी तिथियों पर ‘बिहार बंद’ को लेकर अड़े हुए हैं। महागठबंधन के नेता इसे दो फाड़ मानने को तैयार नहीं हैं। आरजेडी के मृत्युंजय तिवारी कहते हैं, ‘महागठबंधन में शामिल सभी दल सीएए और एनआरसी के विरोध में हैं। दलों के अपने-अपने कार्यक्रम हैं। इसमें दो फाड़ वाली बात कहां है। महागठबंधन में शामिल सभी दलों का मकसद एक है।’ उत्तर प्रदेश में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन के मद्देनज़र धारा 144 लागू कर दी गई है।

सीएए के खिलाफ प्रदर्शन तेज, लेफ्ट ने बुलाया 'बिहार बंद', दरभंगा में रोकी गईं ट्रेनें
सीएए के खिलाफ प्रदर्शन तेज, लेफ्ट ने बुलाया ‘बिहार बंद’, दरभंगा में रोकी गईं ट्रेनें

बिना इजाजत कोई भी रैली, धरना, प्रदर्शन, रोड शो नहीं किया जाएगा। उत्तर प्रदेश की तरह ही हैदराबाद पुलिस ने भी अलर्ट जारी किया है और कहा है कि किसी भी प्रदर्शन, रैली, रोड शो को इजाजत नहीं दी गई है। इसका उल्लंघन करने पर उचित कार्रवाई की जाएगी। कर्नाटक के बेंगलुरु में आज कई संगठनों ने सीएए के खिलाफ मार्च निकालने की बात कही है, इसके मद्देनजर धारा 144 लगाई गई है। राज्य के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने बड़े अधिकारियों के साथ बैठक की और सुरक्षा का जायजा लिया। मुंबई के अगस्त क्रांति मैदान में आज सीएए के खिलाफ छात्रों का प्रदर्शन है, इस प्रदर्शन में स्वरा भास्कर, कुणाल कामरा, फरहान अख्तर जैसे बड़े नाम शामिल हो सकते हैं। दोपहर 12 बजे से लेफ्ट पार्टियों का मार्च दिल्ली के मंडी हाउस से शुरू होगा जोकि शहीद पार्क तक जारी रहेगा। इसके अलावा दूसरा विरोध प्रदर्शन 11 बजे से लालकिले से शुरू होकर शहीद पार्क तक चलेगा। स्वराज इंडिया समेत कुल 60 संगठन आज लालकिले से अपने प्रदर्शन की शुरुआत करेंगे। हालांकि, दिल्ली पुलिस ने इस प्रदर्शन की इजाजत नहीं दी है। तमिलनाडु के चेन्नई में भी नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन के लिए इजाजत मांगी गई थी, लेकिन प्रशासन ने किसी को भी इजाजत नहीं दी है। आदेश ना मानने पर कड़ी कार्रवाई करने को कहा गया है।

Related posts

सेबी को सहारा समूह के निवेशकों की ओर से धन वापसी के 20,000 से कम दावे प्राप्त

Publisher

सुरक्षा में लगे लाखों वीर बेटे-बेटियों को दिवाली पर शुभकामनाएं देना हमारा कर्तव्य

Publisher

जनता से जुड़े वादे पूरे कर रही सरकार : मंत्री डॉ. गोविन्द सिंह

Publisher

Leave a Comment