witnessindia
Image default
national Social World

श्री गुरू गोविन्द सिंह जी महराज के 353 वें प्रकाशोत्सव पर्व पर उमड़ी आस्था

बस्ती (ईएमएस)। श्री गुरू गोविन्द सिंह जी महराज के 353 वें प्रकाशोत्सव पर्व पर रविवार को गुरूद्वारा कम्पनीबाग से गुरू गोविन्द सिंह चौक से फौव्वारा तिराहा, रौता चौराहा, बादशाह मैरेज हाल, मालवीय रोड, रोडवेज तिराहा से गांधीनगर, पक्का बाजार होते हुये गुरूद्वारा साहब कम्पनीबाग तक शोभा यात्रा, भव्य नगर कीर्तन पहुंचा जहां लंगर के साथ कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। शोभा यात्रा में गुरूग्रन्थ साहेब की सजी हुई सवारी जहां आस्था का केन्द्र रही वहीं पंच प्यारे आगे-आगे चल रहे थे। विश्व विख्यात राजेखालसा दल तरन तारन पंजाब की गतका पार्टी के सदस्यों ने वीरता, शौर्य के ऐसे प्रदर्शन किया कि लोगों ने दांतो तले अंगुलिया दबा लिया। शोभा यात्रा में ऊंट, घोडे, पंजाब का बैण्ड बाजा आकर्षण का केन्द्र रहा। ‘सूरा सो पहचानिये जो लड़े दीन के हेतु, पुरजा, पुरजा कट मरे कबहू न छांड़े खेत’ का संदेश चरितार्थ हुआ। ‘वा प्रगटयों वरयाम अकेला, वाह वाह गोविन्द सिंह आपे गुरू चेला’ देह शिवा पर मोहे है, शुभ करमम से कबहू न टरौ’ न डरौ जब जाये लडौ, निश्चय कर अपनी जीत करो’ जैसे शव्द को शोभा यात्रा में शामिल लोग गुन गुना रहे थे।

शोभा यात्रा, भव्य नगर कीर्तन में ‘बोले सो निहाल, सतश्री अकाल’ का जयघोष

‘बोले सो निहाल, सतश्री अकाल’ के जयघोष से पूरा वातावरण गुंजायमान हो गया। स्थान-स्थान पर सेवादारों में शोभा यात्रा में शामिल लोगों में प्रसाद, चाय, पानी आदि का वितरण किया। शोभा यात्रा में सिखों के धार्मिक प्रतीक चिन्ह केसरी निशान साहेब को सिख बीर आगे-आगे लेकर चल रहे थे पंच प्यारे गणवेश में चल रहे थे। , ’गुरू गोविन्द तेरी जय होवे’ ‘ वाह-वाह गुरू गोविन्द सिंह आपे गुरू चेला’ का उदघोष करते हुये बच्चे-बूढे जवान, महिलायें कम्पनीबाग गुरूद्वारा पहुंची जहां लंगर के साथ कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। गुरू घर के सेवक मीडिया प्रभारी सरदार जगवीर सिंह ने बताया कि 7 जनवरी मंगलवार को कीर्तन दरवार और गुरू का लंगर का आयोजन किया गया है। ज्ञानी गगनदीप सिंह ने गुरूग्रन्थ साहेब के श्रीचरणों में अरदास कर सबके मंगलमय जीवन की कामना किया। स्व महेन्द्र सिंह पप्पू के परिजनों की ओर से गुरू के लंगर की सेवा की गई।

श्री गुरू गोविन्द सिंह जी महराज के 353 वें प्रकाशोत्सव पर्व पर उमड़ी आस्था
श्री गुरू गोविन्द सिंह जी महराज के 353 वें प्रकाशोत्सव पर्व पर उमड़ी आस्था

शोभा यात्रा में पंच प्यारे श्रीचन्द्रपाल सिंह, हरी सिंह, भूरे सिंह, चन्द्र सिंह, हंसराज सिंह, जत्थेदार प्रीतम सिंह के साथ ही ज्ञानी प्रदीप सिंह, हरी सिंह बब्लू, कुलदीप सिंह, हरदीप सिंह, अमृतपाल सिंह ‘सनम’इन्द्रपाल सिंह ‘सन्नी’ जोगेन्द्र सिंह, करन सिंह, सैंकी सिंह, प्रमोद सूरी, सर्वजीत सिंह ‘शानू’ बलजीत सिंह, हरंबंश सिंह ‘प्रधान’ कुलवेन्द्र सिंह, दिलप्रीत सिंह, दिलजोत सिंह, सैबी सिंह, इन्द्रदीप सिंह, सिफत सिंह, जसवीर सिंह ‘विक्की, जगजीत सिंह ‘पम्मी’ कुलवेन्द्र सिंह, गुरूमीत सिंह, सुरेन्द्रपाल सिंह, रघुवीर सिंह, दमनप्रीत सिंह, कंवलजीत सिंह, गुरूविन्दर सिंह, प्रीतम सिंह, भूपेन्द्र सिंह, हरिभजन सिंह, चरनजीत सिंह जेमस, सहज सिंह, अमृत सिंह, राजा सिंह, हरजीत सिंह, करनजीत सिंह, गुरूमख सिंह के साथ ही समाजसेवी कमलसेन, दिव्य ज्योति, ओम प्रकाश,जय प्रकाश, जसवंत सिंह, मंजीत सिंह, त्रिलोचन सिंह, तरूण मल्होत्रा, सुधांशु, भाजपा जिलाध्यक्ष महेश शुक्ल, कांग्रेस जिलाध्यक्ष अंकुर वर्मा, पुष्कर मिश्र, रोटरी क्लब अध्यक्ष आशीष श्रीवास्तव, ओम प्रकाश, जयप्रकाश, हर्ष कालरा, तरूण मलहोत्रा आदि शामिल रहे।

Related posts

गेट्स फाउंडेशन के पुरस्कार को लेने से पहले मोदी एक बार पुन: सोंचे : स्वदेशी जागरण मंच

Publisher

करवा चौथ का व्रत रखा तीन पत्नियों वह भी आपस में सगी बहनें

Publisher

पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम की जमानत याचिका पर फैसला

Publisher

Leave a Comment