witnessindia
Image default
health Science Social World

विषमलिंगियों में पुरुषों की तुलना में ज्यादा होता है दिल के रोगों का खतरा

न्यूयॉर्क(ईएमएस)। एक अध्ययन में सामने आया है कि उभयलिंगी लोगों में हेट्रोसेक्सुअल (विषमलिंगी) पुरुषों की तुलना में दिल संबंधी रोगों का खतरा ज्यादा होता है। बता दें ‎कि उभयलिंगी होना दिल की सेहत के लिए बेहद खतरनाक साबित हो सकता है। शोधकर्ताओं ने बताया ‎कि पुरुषों में यौन उन्मुखीकरण का दिल के रोगों के संबंध के बारे में बहुत कम जानकारी है। इस तथ्य के बावजूद भी बाइसेक्सुअल पुरुषों में परिवर्तनीय कारकों जैसे तंबाकू सेवन व खराब मानसिक स्वास्थ्य के आधार पर दिल संबंधी रोगों का जोखिम ज्यादा होता है।

उभयलिंगी होना दिल की सेहत के लिए बेहद खतरनाक साबित हो सकता है।

विषमलिंगियों में ज्यादा होता है दिल के रोगों का खतरा
विषमलिंगियों में ज्यादा होता है दिल के रोगों का खतरा

न्यूयॉर्क विश्वविद्यालय के बिली कासेरेस ने कहा कि हमारे निष्कर्षों से पुरुषों के दिल संबंधी स्वास्थ्य पर यौन उन्मुखीकरण का असर उजागर होता है। यह चिकित्सकों व सार्वजनिक स्वास्थ्य चिकित्सकों को बाइसेक्सुअल पुरुषों में दिल के रोगों के जोखिम को कम करने व रोकथाम के लिए उनकी जांच करने की सलाह देता है। बताया गया ‎कि इसमें शोधकर्ताओं ने दिल के रोगों व इनकी जांच के लिए परिवर्तनीय जोखिम कारकों में अंतर का परीक्षण किया है। इसमें विभिन्न यौन उन्मुखीकरण वाले 7,731 पुरुषों का परीक्षण किया गया, जिनकी आयु 20 से 59 वर्ष के बीच रही है।

Related posts

विदेशी दौरों पर गुलाबी गेंद से खेलने शायद ही तैयार हो भारतीय टीम

Publisher

पुलिस कल्याण के लिए काफी काम किया और आगे भी रखेंगे जारी :अमित शाह

Publisher

गांधी की 150वीं जयंती से कांग्रेस को पुनर्जीवित करेगी सोनिया

Publisher

Leave a Comment