witnessindia
Image default
Education Law Politics Science Tech World

विक्रम से संपर्क की उम्मीद खत्म! इसरो ने समर्थन के लिए पूरी दुनिया को दिया धन्यवाद

नई दिल्ली (ईएमएस)। भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो के वैज्ञानिक अब भी अपने दूसरे मून मिशन चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर से संपर्क साधने में लगे हैं। हालांकि, इसरो ने ट्वीट कर लिखा है कि हमारे साथ खड़ा होने के लिए आप सभी का धन्यवाद। हम दुनिया भर में भारतीयों की आशाओं और सपनों से प्रेरित होकर आगे बढ़ते रहेंगे। यानी इस संदेश को लेकर लोग यह भी कह रहे हैं कि अब इसरो वैज्ञानिक अगले मिशन की तरफ बढ़ रहे हैं, लेकिन चंद्रयान-2 मिशन पर भी नजर रखेंगे। हालांकि, अब विक्रम लैंडर से संपर्क की उम्मीद खत्म हो चुकी है क्योंकि चांद पर रात होने में करीब 3 घंटे ही बचे हैं। 7 सितंबर को तड़के 1.50 बजे के आसपास विक्रम लैंडर चांद के दक्षिणी ध्रुव पर गिरा था जिस समय चंद्रयान-2 का विक्रम लैंडर चांद पर गिरा, उस समय वहां सुबह थी। यानी सूरज की रोशनी चांद पर पडऩी शुरू हुई थी। चांद का पूरा दिन यानी सूरज की रोशनी वाला पूरा समय पृथ्वी के 14 दिनों के बराबर होता है। यानी 20 या 21 सितंबर को चांद पर रात हो जाएगी। 14 दिन काम करने का मिशन लेकर गए विक्रम लैंडर और प्रज्ञान रोवर के मिशन का टाइम पूरा हो जाएगा। आज 18 सितंबर है, यानी चांद पर 20-21 सितंबर को होने वाली रात से करीब 3 घंटे पहले का वक्त। यानी, चांद पर शाम हो चुकी है। हमारे कैलेंडर में जब 20 और 21 सितंबर की तारीख होगी, तब चांद पर रात का अंधेरा छा चुका होगा।

Expect to contact Vikram! ISRO thanks the world for its support

नासा ने भी माना- विक्रम लैंडर से संपर्क मुश्किल
अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के लूनर रिकॉनसेंस ऑर्बिटर के प्रोजेक्ट साइंटिस्ट नोआ.ई.पेत्रो ने बताया था कि चांद पर शाम होने लगी है। हमारा ऑर्बिटर विक्रम लैंडर की तस्वीरें तो लेगा, लेकिन इस बात की गारंटी नहीं है कि तस्वीरें स्पष्ट आएंगी क्योंकि, शाम को सूरज की रोशनी कम होती है और ऐसे में चांद की सतह पर मौजूद किसी भी वस्तु की स्पष्ट तस्वीरें लेना चुनौतीपूर्ण काम होगा लेकिन जो भी तस्वीरें आएंगी, उन्हें हम भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो से साझा करेंगे।

इसरो वैज्ञानिक अगले मिशन की तरफ बढ़ रहे हैं, लेकिन चंद्रयान-2 मिशन पर भी नजर रखेंगे।

इसरो ने कहा-सपनों को पूरा करते रहेंगे
भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने चंद्रयान- 2 के लिए मिले अपार समर्थन के लिए सबका शुक्रिया कहा है। चंद्रयान- 2 के लैंडर विक्रम की चंद्रमा पर हार्ड लैंडिंग की वजह से मिशन के हिस्से आई आंशिक असफलता के बाद भी पूरा देश एकसुर से इसरो की हौसला आफजाई करता रहा। इससे अभिभूत इसरो ने आज शाम एक ट्वीट कर सभी समर्थकों का शुक्रिया कहा। अंतरिक्ष विज्ञान जगत में भारत को गौरवान्वित करने वाले इस संगठन ने दुनियाभर में बसे भारतीयों के सपनों को साकार करने का भरोसा दिलाया। इसरो के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से किए ट्वीट में कहा गया है, हमारा साथ देने के लिए शुक्रिया। हम दुनियाभर के भारतीयों की उम्मीदों और सपनों के दम पर लगातार आगे बढ़ते रहेंगे।

Related posts

राज्यपाल ने जस्टिस मित्तल को दिलाई मुख्य न्यायाधीश पद की शपथ

Publisher

बढ़त के साथ खुले बाजार- सेंसेक्स 38,370 और निफ्टी 11350 के पार

Publisher

अयोध्या: ट्रस्ट में सरकार का प्रतिनिधित्व नहीं चाहती विहिप

Publisher

Leave a Comment