witnessindia
Image default
Law Politics Social World

महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए जोर-आजमाइश अभी भी जारी है

मुंबई(ईएमएस)। महाराष्ट्र में भले ही राष्ट्रपति शासन लग गया हो लेकिन सरकार बनाने के लिए जोर-आजमाइश अभी भी जारी है। तमाम पार्टियां लगातार बैठकें कर रही हैं और सरकार बनाने की कोशिश में हैं। कांग्रेस-एनसीपी-शिवसेना की बैठक के बाद गुरुवार को भारतीय जनता पार्टी की कोर कमेटी की बैठक हुई, इस बैठक में हिस्सा लेने के बाद जब भाजपा नेता आशीष शेल्लार बाहर आए तो उन्होंने मीडिया से सिर्फ इतना कहा, जय श्री राम, हो गया काम। भाजपा कोर कमेटी की इस बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के अलावा प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल, आशीष शेल्लार, पंकजा मुंडे, गिरीश महाजन समेत पार्टी के कई नेता शामिल रहे। अधिकतर नेता बैठक खत्म होने के बाद खुश नजर आए, लेकिन आशीष शेल्लार के बयान ने सुर्खियां बटोर लीं।

महाराष्ट्र में भले ही राष्ट्रपति शासन लग गया हो लेकिन सरकार बनाने के लिए जोर-आजमाइश अभी भी जारी है।

महाराष्ट्र में सरकार बनाने की ओर भाजपा?
महाराष्ट्र में सरकार बनाने की ओर भाजपा?

अब ऐसे में आशीष शेल्लार के इस बयान से कई कयास लगाए जा रहे हैं कि क्या भाजपा को जिस जादुई नंबर की जरूरत थी, वह मिल गया है? क्या भाजपा सरकार बनाने की ओर कदम बढ़ा रही है?  शिवसेना-कांग्रेस-एनसीपी में बन गई बात? एक तरफ भाजपा नेता जोश के साथ भरे हुए दिख रहे हैं, तो वहीं दूसरी ओर भाजपा की पूर्व साथी शिवसेना कांग्रेस और एनसीपी के साथ कॉमन मिनिमम प्रोग्राम बनाने में जुटे हुए हैं। गुरुवार को ही तीनों पार्टियां एक मंच पर आईं और साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस की, जिसमें उन्होंने कहा कि हमारा न्यूनतम साझा कार्यक्रम लगभग तैयार है और सरकार बनाने की ओर जल्द ही कदम बढ़ाए जाएंगे। हालांकि, गठबंधन सरकार बनती है तो मुख्यमंत्री कौन होगा, कितने समय के लिए होगा और किस पार्टी का पहला मुख्यमंत्री होगा, इन सभी सवालों के जवाब अभी तक नहीं मिले हैं। क्रिकेट और राजनीति में कुछ भी संभव: गडकरी राज्य में चल रही राजनीतिक उठापटक के बीच केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता नितिन गडकरी का बयान आया, उन्होंने कहा कि क्रिकेट और राजनीति में कुछ भी संभव हो सकता है, कभी आपको लगता है कि आप मैच हार रहे हैं लेकिन रिजल्ट पूरा उल्टा होता है। हालांकि, उन्होंने ये भी कहा कि सरकार किसकी बनेगी उन्हें नहीं पता है, मैं अभी दिल्ली से आया हूं और राज्य की राजनीति के बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है।

Related posts

मडराक में मंगलवार की सुबह मौत से गुस्साई महिलाओं ने पुलिस थाना घेरा

Publisher

क्रेडिट लिंक्‍ड कैपिटल सब्सिडी योजना फिर से शुरू: मंत्री गडकरी

Publisher

टीम में संजू सैमसन को नहीं मिली जगह विकेटकीपिंग काबिलियत पर उठने लगे सवाल

Publisher

Leave a Comment