witnessindia
Image default
Law Politics Social World

भूरिया ने केंद्रीय मंत्री रहते इस क्षेत्र को क्या दिया बताएं? : गोपाल भार्गव

भोपाल/झाबुआ (ईएमएस)। 2008 में जब यूपीए सरकार थी, तब कांतिलाल भूरिया जी ने तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और तत्कालीन रेल मंत्री लालूप्रसाद यादव को लाकर रेलवे लाइन का भूमि पूजन करवाया था लेकिन 6 साल बाद भी एक किलोमीटर भी पटरी नही बिछी। आज अगर इस रेलवे लाइन के काम को गति मिली है तो सिर्फ भाजपा सरकार के कारण। कांतिलाल भूरिया बताएं कि उन्होंने केंद्रीय मंत्री, राज्य सरकार में मंत्री और कई वर्षों तक सांसद रहते हुए इस आदिवासी क्षेत्र के विकास के लिए क्या किया ? यह बात मध्यप्रदेश में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने युवा सम्मेलन में कही।श्री भार्गव ने मंगलवार को झाबुआ उपचुनाव में पार्टी प्रत्याशी भानु भूरिया के समर्थन में युवा सम्मेलन ओर सेक्टर सम्मेलनों में भाग लिया। सम्मेलन में उन्होंने कहा कि जो काम केंद्रीय मंत्री रहते भी इस क्षेत्र के लिए कांतिलाल भूरिया नही कर पाएं उससे कही ज्यादा काम भाजपा युवा प्रत्याशी भानु भूरिया करेंगे। भानु को जिताने की जिम्मेदारी आपकी ओर इस अंचल विकास की जिम्मेदारी हमारी होगी।भ्रष्टाचार करने के बजाय सरकार बजट की राशि विकास कार्यो में खर्च करें।

आज अगर इस रेलवे लाइन के काम को गति मिली है तो सिर्फ भाजपा सरकार के कारण।

भूरिया ने केंद्रीय मंत्री रहते इस क्षेत्र को क्या दिया बताएं? : गोपाल भार्गव
भूरिया ने केंद्रीय मंत्री रहते इस क्षेत्र को क्या दिया बताएं? : गोपाल भार्गव

नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने कहा कि जब भी प्रदेश में अतिवर्षा से प्रभावित किसानों को मुआवजा देने, जर्जर सड़के बनाने या किसी भी समस्या के समाधान की बात की जाती है तो मुख्यमंत्री कमलनाथ केंद्र सरकार से सहयोग न करने का आरोप लगाते है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार के समय भी अतिवृष्टि से किसानों की फसलें बर्बाद हुई लेकिन हमने कभी भी केंद्र सरकार के आगे हाथ नही फैलाएं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार के पास 2 लाख 35 हजार करोड़ का बजट है। सरकार उस बजट की राशि में भ्रष्टाचार करने के बजाय उसे किसानों को मुआवजा देने ओर विकास कार्यो में खर्च करें।झाबुआ की जनता चुनेगी युव नेतृत्वउन्होंने कहा कि कांग्रेस में ऊपर से लेकर नीचे तक परिवारवाद हावी है। इस उपचुनाव ने कांग्रेस हर बार की तरह एक ही परिवार को चुनावी मैदान में उतारती है। दूसरी तरफ भाजपा के नौजवान उम्मीदवार भानू भूरिया है। जो जोश और जुनून से लबरेज स्वच्छ छवि वाले युवा नेता है। अब विधानसभा क्षेत्र की जनता युवा ऊर्जावान नेतृत्व चाहती है। जनता भाजपा के साथ है।

Related posts

न्यायपालिका में भ्रष्टाचार को लेकर जज राकेश कुमार के आदेश को तीन जजों की पूर्ण पीठ ने किया सस्पेंड

Publisher

मीटू आंदोलन से लोगों की मानसिकता बदली: सनी लियोनी

Publisher

राजस्थान हाईकोर्ट की खंडपीठ से आसाराम को मिली मामूली राहत

Publisher

Leave a Comment