witnessindia
Image default
Politics Social World

प्रथम भारतीय अंतर्राष्ट्रीय सहकारी व्यापार मेला नई दिल्ली में आयोजि‍त कि‍या

नई दिल्ली (ईएमएस)। प्रथम भारतीय अंतर्राष्ट्रीय सहकारी व्यापार मेला (आईआईसीटीएफ) दि‍नांक 11 से 13 अक्टू्बर, 2019 के दौरान प्रगति‍ मैदान, नई दि‍ल्ली में आयोजि‍त कि‍या जा रहा है। मेले का आयोजन राष्ट्री्य सहकारी वि‍कास नि‍गम के नेतृत्व में बैंकॉक स्थित अंतर्राष्ट्री य संगठन (नेडैक) तथा भारत में अग्रणी संगठनों (नैफेड, एपीडा, आई.टी.पी.ओ. आदि) समेत कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय, वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय तथा विदेश मंत्रालय के सहयोग से कि‍या जा रहा है। भारतीय अंतर्राष्ट्रीय सहकारी व्यापार मेले में 6 राज्य सरकारों/संघ शासित राज्यों अर्थात तेलंगाना, हरियाणा, उत्तराखंड, पुडुचेरी, मेघालय तथा गोवा की साझेदारी हैं। भारतीय अंतर्राष्ट्रीय सहकारी व्यापार मेले में इफको, आईपीएल, अमूल, सीडीबी, यूपीएल, एफएओ, एनसीयूआई, लिनाक, नैफकब, नैफ्सकोब, एनसीसीडी आदि भी भागीदारी के माध्यम से सहयोग कर रहे हैं। जैसा कि भारत के किसानों में 94% कम से कम एक सहकारी संस्थान के सदस्य हैं, कृषि निर्यात नीति 2018 में उल्लिखित कृषि निर्यात को 2022 तक वर्तमान में 30 बिलियन डॉलर+ से 60 बिलियन डॉलर+ तक ले जाने में सहकारी क्षेत्र की अहम भूमिका है।

भारतीय अंतर्राष्ट्रीय सहकारी व्यापार मेला भारतीय सहकारी उत्पाद के निर्यात को बढ़ावा देने के लिए प्रमुख मंच साबित होगा।

प्रथम भारतीय अंतर्राष्ट्रीय सहकारी व्यापार मेला नई दिल्ली में आयोजि‍त कि‍या
प्रथम भारतीय अंतर्राष्ट्रीय सहकारी व्यापार मेला नई दिल्ली में आयोजि‍त कि‍या

यह मेला महत्वपूर्ण कृषि वस्तुओं एवं उत्पादों का निर्यात संवर्धन किसानों की आय दुगनी करने एवं कृषि निर्यात नीति 2018 के अंतर्गत निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त करने में सहायता प्रदान करेगा। भारतीय अंतर्राष्ट्रीय सहकारी व्यापार मेला (आईआईसीटीएफ) भारतीय सहकारी उत्पाद के निर्यात को बढ़ावा देने के लिए प्रमुख मंच साबित होगा। यह मेला प्रदर्शनियों, (B2B) व्यदवसाय से व्यढवसाय की बैठकों, (C2C) सहकारि‍ताओं की आपसी बैठकों, सम्मेललनों, सांस्कृतिक कार्यक्रमों आदि‍ से परि‍पूर्ण है। भारतीय अंतर्राष्ट्रीय सहकारी व्यापार मेले (आई.आई.सी.टी.एफ.) के अनावरण कार्यक्रम को दिनांक 2 जुलाई, 2019 को नेशनल मीडिया सेंटर में माननीय केंद्रीय कृषि मंत्री एवं माननीय केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री द्वारा संयुक्त रुप से संबोधित किया गया। इस व्याकपार मेले का उद्देश्यम ग्रामीण एवं कृषि‍ समृद्धि‍ को बढ़ावा देते हुए भारत एवं वि‍देशों में सहकारी व्यावपार को सहकारि‍ताओं के बीच प्रोत्सामहि‍त करना है। यह मेला संधि‍ नि‍र्माण, व्यहवसाय नेटवर्किंग, उत्पारद स्रोत तथा उपर्युक्ता समेत, उत्पायदों एवं सेवा प्रदाताओं की वि‍स्तृ,त श्रृंखला के प्राथमि‍क उत्पा्दकों के साथ परस्पकर बातचीत के माध्यम से भारत एवं विदेश से उद्योग एवं व्यवसाय हाउसेस के लिए बृहद अवसर प्रदान करता है।

भारत को इस माह के अंत में मिल सकता पहला ‘राफेल’

भारतीय अंतर्राष्ट्रीय सहकारी व्यापार मेले में भारत एवं विदेश से प्रदर्शक/ विक्रेता/ खरीददार सम्मिलित होंगे जिनके द्वारा कृषि एवं संबद्ध क्षेत्र पू्र्ण वैल्यू चेन, शीत श्रृंखला, डेरी, वस्तुएं, निर्यात, प्रौद्योगिकी, जलवायु अनुकूल कृषि, प्रसंस्करण, पैकेजिंग, भण्डारण, मशीनरी, ब्राण्ड संवर्धन, विपणन, सहकारी बैंकिंग, कृषि प्रौद्योगिकी, साइबर सुरक्षा, पशुधन, मत्स्य पालन, हथकरघा, हस्तशिल्प, वस्त्र, उपभोक्ता वस्तुएं, खुदरा, आतिथ्य सत्कार, बीमा, वित्त, ऋण, स्वास्थ्य, महिला समूहों के उत्पाद एवं क्षमता विकास जैसे क्षेत्रों में सहकारी व्यापार पर बल दिया जाएगा। यह व्यापार मेला वैश्वि ‍क पटल पर सहकारी व्यापार, व्यसवसाय के वि‍स्तातरण एवं‍ वि‍वि‍धि‍करण, प्रौद्योगि‍की स्थानांतरण, सहकारी उत्पा दों आदि हेतु अंतर्राष्ट्री य गुणवत्ताु मानदंड स्थावपि‍त करने में एक सहयोगी वातावरण नि‍र्मि‍त करेगा। मेले के परि‍णामस्वआरूप उत्तम तरीके, सहकार्य एवं भागीदारी का आपस में आदान प्रदान होगा। भारतीय संदर्भ में यह मेला, सहकारिताओं द्वारा नि‍र्यात पर बल तथा सहकारी दूरदृष्टि एवं सुदृढ़ता को व्य्वहारि‍क व्याकपार मॉडल के रूप में लाने में सहायता प्रदान करेगा।

Related posts

नेतन्याहू के लिए एग्जिट पोल के नतीजे निराशाजनक, नहीं मिलेगा बहुमत

Publisher

तीनों खानों से भी बड़ी ओपनिंग चाहती हैं बॉलिवुड ऐक्टर्स विद्या बालन

Publisher

पॉप्युलर फ्रंट ऑफ इंडिया के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश के कानपुर में हुई हिंसा

Publisher

Leave a Comment