witnessindia
Image default
Fitness health Lifestyle Social World

पीठ दर्द और इंसोमनिया के उपचार में दवाओं की अपेक्षा योगाभ्यास अधिक कारगर

वाशिंगटन (ईएमएस)। बढ़ती उम्र के साथ शारीरिक व्याधिया मनुष्य को परेशान करने लगती हैं। इन्हीं में से एक है पीठ दर्द यानि बैक पेन। इस असहनीय पीड़ा से मुक्ति के लिए लोग दवाओं का सहारा लेते है। दवाओं के साइड इफेक्ट भी सुने गए है ऐसे में योग ऐसा कारगर नुस्खा है जिसके द्वारा इन बीमारियों से निजात पाई जा सकती है। योग के प्रभाव को अब पूरी दुनिया स्वीकारने लगी है। एक बार फिर शोधकर्ताओं ने योग के प्रभाव को मॉर्डन डिजीज में मददगार माना है। यह शोध अमेरिका में किया गया, जिसमें सामने आया कि लोअर बैक और नींद न आने की समस्या से जूझ रहे लोगों के लिए योग करना बहुत ही फायदेमंद रहता है। बोस्टन मेडिकल सेंटर द्वारा बैक पेन के इलाज के लिए योग और साइकोथेरपी के प्रभाव से जुड़ी रिसर्च की गई। हालही इस रिसर्च का प्रकाशन जर्नल ऑफ जनरल इंटरनल मेडिसिन्स में किया गया।

अमेरिका में किया गया, जिसमें सामने आया कि लोअर बैक और नींद न आने की समस्या से जूझ रहे लोगों के लिए योग करना बहुत ही फायदेमंद रहता है।

पीठ दर्द और इंसोमनिया के उपचार में दवाओं की अपेक्षा योगाभ्यास अधिक कारगर
पीठ दर्द और इंसोमनिया के उपचार में दवाओं की अपेक्षा योगाभ्यास अधिक कारगर

रिसर्च में बताया गया कि स्लीप डिसऑर्डर और बैक पेन के इलाज में साइकोथेरपी और योग बेहद मददगार हो सकते हैं। इनके प्रभाव के चलते मरीजों को बहुत ही कम मात्रा में पेन किलर्स की जरूरत होती है। पिछले दिनों हुई एक स्टडी में बताया गया था कि क्रॉनिक बैक पेन से परेशान 59 फीसदी मरीजों को अनिद्रा की समस्या भी होती है। कई रोगी तो इस दौरान इन्सोमनिया डिसऑर्डर से पीड़ित हो जाते हैं। हालांकि इन्सोमनिया और बैक पेन दोनों के लिए ही पर्याप्त और उचित दवाइयां उपलब्ध हैं। लेकिन इनके अधिक और लंबे समय तक सेवन से रोगियों में इन दवाइयों के साइड इफेक्ट्स होने लगते हैं। इन साइड इफेक्ट्स से बचने का सबसे सही, सटीक और आसान उपाय है कि किसी ट्रेनर की देखरेख में रोगियों को योग कराया जाए। इससे ना केवल रोगियों को दर्द और अनिद्रा से छुटकारा मिलेगा बल्कि वे दवाइयों के साइड इफेक्ट्स से भी बचे रहेंगे।

Related posts

पुजारा, अश्विन और जडेजा और ऋषभ ने दूधिया रोशनी में अभ्यास किया

Publisher

धोनी ने सिलेक्टर्स से बात की होगी: बीसीसीआई अध्यक्ष सौरभ गांगुली

Publisher

सीवर या बड़े नालों की सफाई के दौरान जहरीली गैसों की चपेट में सरकारें लापरवाह

Publisher

Leave a Comment