witnessindia
Image default
Law Politics Social World

पीएम मोदी और एनएसए डोभाल पर हमले के लिए विशेष दस्ता तैयार कर रहा जैश

नई दिल्ली (ईएमएस)। पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजित डोभाल पर हमले के लिए आतंकियों का एक विशेष दस्ता तैयार कर रहा है। खुफिया सूत्रों के अनुसार जैश जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 हटाने का बदला लेने के लिए एक बड़े हमले को अंजाम देना चाहता है। पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई का एक मेजर इस ‘सनसनीखेज हमले’ की तैयारी में जैश की मदद कर रहा है। एक विदेशी खुफिया एजेंसी को जैश के पाकिस्तानी आतंकवादी शमशेर वाणी और उसके आका के बीच हुई लिखित बातचीत की जानकारी हाथ लगी है। इसी विदेशी एजेंसी ने यह जानकारी भारत के खुफिया अधिकारियों से साझा की है। विदेशी एजेंसी से प्राप्त इनपुट कुछ मीडिया संस्थानों ने भी देखा है, जिसमें सितंबर महीने में एक बड़े आतंकवादी हमले की योजना का जिक्र किया गया है। इस इनपुट के आधार पर जम्मू, अमृतसर, पठानकोट, जयपुर, गांधीनगर, कानपुर और लखनऊ समेत कुल 30 अतिसंवेदनशील शहरों की पुलिस को चौकस कर दिया गया है। साथ ही, एनएसए डोभाल की सुरक्षा व्यवस्था की भी समीक्षा की गई है।

खुफिया सूत्रों के अनुसार जैश जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 हटाने का बदला लेने के लिए एक बड़े हमले को अंजाम देना चाहता है।

Jaish preparing special squad for attack on PM Modi and NSA Doval

डोभाल ने आर्मी के उरी कैंप पर आतंकी हमले के बाद पाकिस्तानी सीमा में घुसकर की गई सर्जिकल स्ट्राइक और पुलवामा में आत्माघाती हमले के बाद बालाकोट में वायुसेना के विध्वंसक हमले में रणनीति बनाने में बड़ी भूमिका निभाई थी। इस कारण वह पाकिस्तानी आतंकवादियों के निशाने पर हैं। भारत में जैश के कर्ताधर्ताओं को सेना ने चुन-चुनकर मार गिराया है। यही वजह है कि पाकिस्तान स्थित जैश का सरगना बदला लेने को बेताब है। बालाकोट में जैश के ठिकाने पर भारतीय वायुसेना ने हमला किया तो उसकी बौखलाहट और बढ़ गई। इंटेलिजेंस सूत्रों ने बताया कि 5 अगस्त को भारत सरकार ने आर्टिकल 370 हटाने का ऐलान किया तो जैश ने भारत की प्रमुख हस्तियों पर हमला कर बदला लेने की कसम ले ली। जैश-ए-मोहम्मद 5 अगस्त के बाद से अपने फिदायीन सीमा पार करवाने की लगातार फिराक में है। वह पुलवामा जैसा ही बड़ा आत्मघाती हमला करवाना चाहता है। उसे पाकिस्तान आर्मी की बॉर्डर एक्शन टीम (बैट) का भरपूर समर्थन मिल रहा है। भारत में घुसपैठ करने के फिराक में पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) के हाजी पीर सेक्टर में 12-13 सितंबर की रात जुटे आत्मघाती हमलावरों का जत्था नजर आया था। भारतीय सुरक्षा एजेंसियों ने घुसपैठ की इस कोशिश को नाकाम कर दिया था।

Related posts

ग्राम पंचायत शाहपुर में प्रभारी सचिव ने की ग्रामीणों से चर्चा

Publisher

पंजाब में रिलायंस जियो 1.26 करोड़ ग्राहकों के साथ सबसे आगे

Publisher

शाहिद की पत्नी मीरा राजपूत एक बार फिर बनी ट्रोलर्स का निशाना

Publisher

Leave a Comment