witnessindia
Image default
Law Politics Social World

पाक ने इमरान सरकार के पहले साल में लिया कार्यकाल में रेकॉर्ड कर्ज

इस्लामाबाद (ईएमएस)। नया पाकिस्तान बनाने के वादे के साथ सत्ता में आए इमरान खान के एक साल के ही शासनकाल में इमरान ने पाकिस्तान को आर्थिक कंगाली के कगार पर खड़ा कर दिया है और मुल्क कर्ज के बोझ तले दबा जा रहा है। नई सरकार के शुरुआती एक साल के कार्यकाल में रेकार्ड कर्ज लिया गया है। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार सरकार के एक साल के कार्यकाल में देश के कुल कर्ज में 7509 अरब (पाकिस्तानी) रुपए की वृद्धि हुई है। सूत्रों ने बताया कि कर्ज के यह आंकड़े स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान ने प्रधानमंत्री कार्यालय को भिजवा दिए हैं। अगस्त 2018 से अगस्त 2019 के बीच विदेश से 2804 अरब रुपए का और घरेलू स्रोतों से 4705 अरब रुपए का कर्ज लिया गया।

नई सरकार के शुरुआती एक साल के कार्यकाल में रेकार्ड कर्ज लिया गया है।

पाक ने इमरान सरकार के पहले साल में लिया कार्यकाल में रेकॉर्ड कर्ज
पाक ने इमरान सरकार के पहले साल में लिया कार्यकाल में रेकॉर्ड कर्ज

स्टेट बैंक के आंकड़ों के मुताबिक मौजूदा वित्तीय वर्ष के पहले दो महीनों में पाकिस्तान के सार्वजनिक कर्ज में 1.43 फीसदी का इजाफा हुआ है। संघीय सरकार का यह कर्जा बढ़कर 32,240 अरब रुपए हो गया है। अगस्त 2018 में यह कर्ज 24,732 अरब रुपये था। एक रिपोर्ट में आंकड़ों के हवाले से कहा गया है कि मौजूदा वित्तीय वर्ष के पहले तीन महीने में सरकार का कर संग्रह 960 अरब रुपए का रहा जो कि एक ट्रिलियन रुपए के लक्ष्य से कम है।

Related posts

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने धर्मशाला में ग्‍लोबल इन्‍वेस्‍टर्स मीट का आगाज किया

Publisher

आज के आपाधापी के समय में 40 से पहले बढ़ा वजन, हो सकती है कैंसर की आहट

Publisher

मीटू आंदोलन से लोगों की मानसिकता बदली: सनी लियोनी

Publisher

Leave a Comment