witnessindia
Image default
International Lifestyle national Social World

नए साल पर जम्मू-कश्मीर के सरकारी अस्पतालों में ब्रॉडबैंड इंटरनेट सेवा शुरू

जम्मू (ईएमएस)। लगभग पांच महीने बाद जम्मू-कश्मीर के सरकारी अस्पतालों में ब्रॉडबैंड इंटरनेट सेवा और सभी मोबाइल फोन पर एसएमएस सेवा बहाल कर दी गई है। कश्मीर वासियों के लिए यह सरकार का यह कदम नए साल पर तोहफे के जैसा है। मंगलवार मध्यरात्रि से एसएमएस सेवाएं शुरू हो चुकी हैं। हालांकि, मोबाइल इंटरनेट के अलावा अधिकतर सेवाएं 5 अगस्त को प्रतिबंध लगाने के एक हफ्ते के भीतर ही जम्मू में शुरू कर दी गई थीं, लेकिन कश्मीर में लैंडलाइन और पोस्टपेड सेवा कई चरणों में बहाल की गई। जम्मू कश्मीर प्रशासन के प्रवक्ता रोहित कंसल ने कहा, ‘सभी सरकारी अस्पतालों में 31 दिसंबर मध्यरात्रि से इंटरनेट सेवा और सभी मोबाइल फोन पर पूरी तरह से एसएमएस सेवा बहाल करने का निर्णय लिया गया। यह कदम नववर्ष के आगमन के साथ उठाया गया है। कश्मीर में अभी मोबाइल पर इंटरनेट और प्रीपेड मोबाइल सेवा बहाल होना बाकी है।

कश्मीर वासियों के लिए यह सरकार का यह कदम नए साल पर तोहफे के जैसा है।

चरणबद्ध तरीके शुरू होगा इंटरनेट
रोहित कंसल ने आगे कहा, अभी यह फैसला नहीं लिया गया है कि इंटरनेट सेवाएं कब शुरू की जाएंगी। यह मुद्दा सरकार के संज्ञान में है। स्थिति सुधरने के साथ जल्द ही इंटरनेट सेवा भी शुरू कर दी जाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि चरणबद्ध तरीके से सभी सरकारी अस्पतालों और स्कूलों में इंटरनेट सेवा शुरू कर दी जाएगी।

नए साल पर जम्मू-कश्मीर में इंटरनेट सेवा शुरू
नए साल पर जम्मू-कश्मीर में इंटरनेट सेवा शुरू

5 अगस्त को हुए थे बड़े बदलाव
बता दें कि कश्मीर में 5 अगस्त को मोबाइल सेवाओं पर प्रतिबंध लगा दिया गया था, जब केंद्र सरकार ने राज्य का विशेष दर्जा समाप्त कर उसे दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित कर दिया था। जम्मू में प्रतिबंध के कुछ दिनों बाद ही संचार सेवाएं बहाल कर दी गई थीं और अगस्त के मध्य में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं भी शुरू कर दी गई थीं। 18 अगस्त को मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई थी।

Related posts

मंडी समिति सचिव संतोष कुमार ने बताया राशन कार्ड पर ले 38 रु/किलो प्याज

Publisher

साउथ अफ्रीका में समंदर किनारे अपनी फिल्‍म का गाना गुनगुनाते दिखाई दिए अक्षय

Publisher

ट्रेन में सफर के दौरान मिलेगी मुफ्त वाई-फाई की सुविधाः रेल मंत्री गोयल

Publisher

Leave a Comment