witnessindia
Image default
Economics national Social World

दिसंबर 2019 में गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स संग्रह नौ फीसदी बढ़ा

नई दिल्ली (ईएमएसव)। दिसंबर 2019 में गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (जीएसटी) संग्रह लगभग 9 पर्सेंट बढ़कर 1.03 लाख करोड़ रुपए रहा। एक वर्ष पहले के इसी महीने में यह 94,726 करोड़ रुपए था। जानकारी के मुता‎बिक कम्प्लायंस में सुधार होने और टैक्स चोरी रोकने के उपायों के चलते जीएसटी संग्रह में बढोतरी हुई है। दो महीने तक संग्रह में ‎कमी के बाद नवंबर 2019 में यह 6 फीसदी बढ़ा था। सरकार ने पिछले कुछ महीनों में टैक्स चोरी रोकने सहित कलेक्शन में सुधार के लिए कुछ उपाय किए हैं। राजस्व स‎चिव अजय पांडे ने दिसंबर में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक में जीएसटी संग्रह बढ़ाने का एक स्पष्ट संदेश दिया था। उन्होंने डिफॉल्टर्स का रजिस्ट्रेशन रद्द करने और इनपुट टैक्स क्रेडिट को ब्लॉक करने का निर्देश दिया था।

जानकारी के मुता‎बिक कम्प्लायंस में सुधार होने और टैक्स चोरी रोकने के उपायों के चलते जीएसटी संग्रह में बढोतरी हुई है।

दिसंबर में जीएसटी संग्रह नौ फीसदी बढ़ा
दिसंबर में जीएसटी संग्रह नौ फीसदी बढ़ा

‎‎‎वित्त मंत्रालय ने बताया ‎कि दिसंबर 2019 के दौरान घरेलू ट्रांजेक्सन से जीएसटी राजस्व में अच्छी बढ़ोतरी हुई है। अगर आयात से मिले इंटीग्रेटेड जीएसटी को मिलाया जाए तो दिसंबर 2019 में कुल राजस्व 9 फीसदी बढ़ा है। पिछले वर्ष नवंबर से दिसंबर तक दाखिल की गई कुल जीएसटी रिटर्न की संख्या 81.21 लाख थी। इससे कम्प्लायंस में सुधार का संकेत मिल रहा है। राज्य के स्तर पर जम्मू और कश्मीर में दिसंबर 2019 में कलेक्शन सबसे अधिक 40 फीसदी बढ़कर 409 करोड़ रुपए रहा। महाराष्ट्र में दिसंबर में सबसे अधिक 16,530 करोड़ रुपए का कलेक्शन हुआ।

Related posts

हरि व्यापक सर्वत्र समाना, प्रेम ते प्रगट होहिं जे जाना’मिलहि न रघुपति बिनु अनुरागा।

Publisher

दुनिया के सबसे बड़े आर्ट म्यूजियम की ट्रस्टी बनीं नीता अंबानी

Publisher

शेयर बाजार में बूम, आज नए रेकॉर्ड स्तर पर खुला सेंसेक्स, पहली बार 41000 के पार

Publisher

Leave a Comment