witnessindia
Image default
Law World

तानों से तंग पत्नी ने मांगा तलाक, वैष्णो देवी के दर्शन कर लौटे तो हो गया सेटेलमेंट

नई दिल्ली (ईएमएस)। धार्मिक आस्था और समझाइश का भी बड़ा असर होता है। एक ऐसे मामले में ससुरालवालों के तानों से तंग दुल्हन ने कोर्ट में तलाक की अर्जी दाखिल कर दी। कोर्ट ने मामले को मध्यस्थता सेंटर में रेफर कर दिया। शादी के कुछ समय बाद ही अलग होने से दुखी पति ने पत्नी के साथ वैष्णो देवी दर्शन करने की इच्छा जताई। मध्यस्थता सेंटर में इस केस को देख रहे मीडिएटर को लगा कि टूटने की कगार पर पहुंच चुका यह रिश्ता दोबारा जुड़ सकता है। इजाजत मिलने के बाद पति-पत्नी वैष्णो देवी दर्शन करने के लिए चले गए। वापस लौटे तो शादी टूटने से बच गई।

कोर्ट ने मामले को मध्यस्थता सेंटर में रेफर कर दिया। शादी के कुछ समय बाद ही अलग होने से दुखी पति ने पत्नी के साथ वैष्णो देवी दर्शन करने की इच्छा जताई।


ईस्ट दिल्ली में रहने वाली युवती की शादी साल 2018 में नोएडा की सॉफ्टवेयर कंपनी में जॉब करने वाले इंजिनियर से हुई थी। रिश्तेदार इस बात को लेकर नाराज थे कि शादी में उनकी मिलनी (मान सम्मान) अच्छी तरह से नहीं की गई। तानों से दुखी होकर लड़की वापस अपने मायके लौट आई। यहां आकर युवती ने पति से अलग होने का फैसला लिया। युवती ने तलाक के लिए कड़कड़डूमा कोर्ट में अर्जी दाखिल कर दी। संबंधित कोर्ट ने यह केस मध्यस्थता सेंटर में भेज दिया। सेंटर में बतौर मीडिएटर तैनात एडवोकेट केके मखीजा ने सबसे पहले लड़के और लड़की से अलग अलग बातें की। दोनों में से किसी ने एक दूसरे पर कोई आरोप नहीं लगाया। एक बार पति-पत्नी जब अपने केस की सुनवाई के सिलसिले में मध्यस्थता सेंटर आए थे तो उन्होंने वैष्णो देवी के दर्शन करने की इच्छा जताई। मध्यस्थ ने दोनों को वैष्णो देवी दर्शन करने की इजाजत दे दी। वैष्णो देवी से वापस लौटने के बाद अपनी तलाक की अर्जी वापस लेते हुए एक साथ रहने की इच्छा जताई। मध्यस्थ मखीजा ने बताया कि 5-6 सुनवाई में यह मामला निपट गया।
विपिन/ ईएमएस/ 03 सितंबर 2019

Related posts

विधायक ने किया गौशाला एवं विद्यास्थली स्कूल का शुभारंभ

Publisher

एनसीपी और कांग्रेस ने सुप्रीम कोर्ट पहुंचा महाराष्ट्र का नाटक, आज सुनवाई

Publisher

दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेट काइल एबोट ने हैंपशर काउंटी चैम्पियनशिप में नया रिकार्ड बनाया

Publisher

Leave a Comment