witnessindia
Image default
Law Politics Social World

उर्मिला के इस्तीफे के बाद बढ़ी मुंबई कांग्रेस में कलह

मुंबई (ईएमएस)। उर्मिला मातोंडकर के पार्टी से इस्तीफा देने के बाद मुंबई कांग्रेस में चल रही अंदरूनी कलह खुलकर सामने आ गई है। एक तरफ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मिलिंद देवड़ा ने इस्तीफे के बाद संजय निरुपम पर निशाना साधा। वहीं इस इस्तीफे के लिए संजय भी देवड़ा को जिम्मेदार ठहराते दिखे। इस दौरान मिलिंद देवड़ा ने एक ट्वीट कर कहा कि जब उर्मिला ने लोकसभा चुनाव लड़ने का निर्णय लिया तो मैं उनके साथ खड़ा था। मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष के तौर पर उस समय मैंने उनका पूरा समर्थन किया। मैं उस समय भी उनके साथ था जब उन्हें पार्टी में लाने वाले लोग ही विरोध में उतर आए थे। उन्होंने कहा कि इस पूरे घटनाक्रम के लिए उत्तरी मुंबई के कांग्रेस नेताओं को ही जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए। संजय ने कहा कि कांग्रेस में आत्म मंथन चल रहा है। जिनको जाना है वह छोड़कर जा सकते हैं, जो पार्टी के साथ हैं वह पार्टी में रहेंगे। उर्मिला के इस्तीफे की बात पर उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि उनकी चिट्ठी को लीक कर दिया गया। यह निजता की बात थी और ऐसा किसी भी हाल में नहीं होना चाहिए था। उर्मिला की ओर से लगाए गए दो नेताओं पर आरोप की बात पर संजय ने कहा कि जिन नेताओं पर आरोप लगाए गए हैं उनके लिए मैं दावे से कहता हूं कि उन्होंने पार्टी के लिए पूरी मेहनत से काम किया है।

उर्मिला के इस्तीफे की बात पर उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि उनकी चिट्ठी को लीक कर दिया गया।

Discord in Mumbai Congress increased after Urmila's resignation

उनको किसी भी पद पर नियुक्त नहीं किया गया है और मैं फिर उनसे अनुरोध करूंगा कि वे अपने फैसले पर विचार करें। इसके लिए मैं मिलिंद देवड़ा को जिम्मेदार ठहराना चाहता हूं। उन्होंने कैंपेन चलाकर मुझे हटवाया और अपनी नियुक्ति करवाई और अब विधानसभा चुनावों से पहले हट गए। गौरतलब है कि उर्मिला ने इसी साल मार्च में कांग्रेस पार्टी जॉइन की थी और 2019 लोकसभा चुनावों के दौरान वह उत्तर मुंबई से खड़ी हुई थीं, लेकिन भाजपा के गोपाल शेट्टी ने उन्हें हरा दिया था।

Related posts

टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा की ब्रांड वैल्यू बढ़ी

Publisher

स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को टीम में बनाये रखेगी किंग्स इलेवन : नेस

Publisher

विकास की यात्रा अंतहीन, अभी बहुत कुछ किया जाना हैं : कमलनाथ

Publisher

Leave a Comment