witnessindia
Image default
Law Lifestyle Politics Social World

उच्चतम न्यायालय ने मस्जिदों में महिलाओं के प्रवेश पर सुनवाई स्थगित

नई दिल्ली (ईएमएस)। उच्चतम न्यायालय ने मस्जिदों में मुस्लिम महिलाओं को प्रवेश की अनुमति के लिए दायर जनहित याचिका पर सुनवाई अलग कारण से टाल दी। जस्टिस एस ए बोबडे, जस्टिस एस अब्दुल नजीर और जस्टिस कृष्ण मुरारी की पीठ ने कोई कारण बताए बगैर कहा, इस मामले को अन्य कारण से 10 दिन के लिए स्थगित कर रहे हैं। जस्टिस बोबडे उस पांच सदस्यीय संविधान पीठ के सदस्य हैं जिसे अयोध्या के राम जन्मभूमि विवाद पर 17 नवंबर तक फैसला सुनाना है।

उच्चतम न्यायालय ने मस्जिदों में मुस्लिम महिलाओं को प्रवेश की अनुमति के लिए दायर जनहित याचिका पर सुनवाई अलग कारण से टाल दी।

उच्चतम न्यायालय ने मस्जिदों में महिलाओं के प्रवेश पर सुनवाई स्थगित
उच्चतम न्यायालय ने मस्जिदों में महिलाओं के प्रवेश पर सुनवाई स्थगित

पुणे निवासी यासमीन जुबेर अहमद पीरजादा, जुबेर अहमद नजीर अहमद पीरजादा ने याचिका दाखिल की है।इसमें कहा है कि मस्जिदों में मुस्लिम महिलाओं के प्रवेश पर पाबंदी असंवैधानिक है, इससे संविधान में प्रदत्त जीने के अधिकार, समता, लैंगिक न्याय के अधिकारों का हनन होता है। शीर्ष अदालत ने महिला एवं बाल विकास मंत्रालय, कानून मंत्रालय राष्ट्रीय महिला आयोग को पांच नवंबर तक जवाब देने के निर्देश दिए थे।

Related posts

सभी युद्ध युवा सैनिकों की मदद से जीते गए

Publisher

तेजस ट्रेन में चढ़ते ही वेलकम ड्रिंक्स से यात्रियों का स्वागत किया जाएगा

Publisher

श्रीलंकाई राष्ट्रपति गोटाबाया को दी जाएगी 21 तोपों की सलामी

Publisher

Leave a Comment