witnessindia
Image default
Law Social World

अब गहरे समुद्र के राज खोलेगा भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन

चेन्नई (ईएमएस)। गहरे समुद्र के रहस्य तलाशने के लिए इंसान को एक पनडुब्बीनुमा खोज यान में भेजने का महत्वाकांक्षी भारतीय अभियान शुरू होने से अब महज एक कदम दूर रह गया है, क्योंकि भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) को अपने क्रू मॉड्यूल का डिजाइन विकसित करने में सफलता मिल गई है। इसरो का मॉड्यूल गोलाकार कैप्सूल सरीखा होगा, जो समुद्री गहराइयों के असीमित दबाव को आसानी से झेलने में सफल रहेगा। भू विज्ञान मंत्रालय के सचिव माधवन नायर राजीवन ने रविवार को कहा, तीन इंसानों को ले जाने की क्षमता वाली गोलाकार पनडुब्बी का डिजाइन इसरो ने तैयार कर लिया है।

इसरो का मॉड्यूल गोलाकार कैप्सूल सरीखा होगा, जो समुद्री गहराइयों के असीमित दबाव को आसानी से झेलने में सफल रहेगा।

अब गहरे समुद्र के राज खोलेगा भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन
अब गहरे समुद्र के राज खोलेगा भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन

अब इसे प्रमाणित करने के लिए एक इंटरनेशनल एजेंसी को भेजा जाएगा और इसके बाद हम इसका निर्माण करने की दिशा में आगे बढ़ेंगे। यहां राष्ट्रीय समुद्री तकनीक संस्थान (एनआईओटी) के सिल्वर जुबली समारोह में आए माधवन ने कहा, संभवत: टाइटेनियम से निर्मित किए जाने वाले कैप्सूल के डिजाइन करने में जटिल तकनीक का इस्तेमाल किया गया है। उन्होंने कहा, इसे डिजाइन करने और प्रमाणित हो जाने के बाद निर्मित करने की जिम्मेदारी भी इसरो को ही दी गई है।

Related posts

उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश जस्टिस शरद अरविंद बोबड़े ने ली शपथ

Publisher

कृषि मण्डी परिसर में अनाज बेचने आ रहे किसानों को परेशानियों का सामना

Publisher

आर्थिक सुस्ती के बीच शख्स और माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स ने किया दावा

Publisher

Leave a Comment