witnessindia
Image default
Law Social Tech World

अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के अध्यक्ष के. सिवन ने कहा- अंतरिक्ष में इंसान को भेजेंगे

भुवनेश्वर (ईएमएस)। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के अध्यक्ष के. सिवन ने कहा कि 2021 में भारत अंतरिक्ष में इंसान भेजने जा रहा है। भले ही चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम की सॉफ्ट लैंडिंग नहीं हो सकी लेकिन इससे मिशन गगनयान पर कोई फर्क नहीं पडऩे वाला है। बता दें कि इसरो 2020 में पहला मानव रहित मिशन और 2021 में मानव सहित मिशन भेजने की तैयारी में है। सिवन ने कहा कि चंद्रयान-2 का ऑर्बिटर साढ़े सात वर्षों तक डेटा देगा। उन्होंने कहा, ‘चंद्रमा मिशन की सभी प्रौद्योगिकियां सॉफ्ट लैंडिंग को छोड़कर सटीक साबित हुई हैं। क्या यह सफल नहीं है? सिवन ने आईआईटी, भुवनेश्वर के आठवें दीक्षांत समारोह को संबोधित करते हुए कहा, ‘दिसंबर 2020 तक हमारे पास मानव अंतरिक्ष विमान का पहला मानव रहित मिशन होगा। हमने दूसरे मानव रहित मानव अंतरिक्ष विमान का लक्ष्य जुलाई 2021 तक रखा है।

भले ही चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम की सॉफ्ट लैंडिंग नहीं हो सकी लेकिन इससे मिशन गगनयान पर कोई फर्क नहीं पडऩे वाला है।

President of Space Research Organization K. Sivan

Related posts

संसद सत्र से पहले पीएम मोदी की विपक्षी दलों से सकारात्मक सहयोग की अपील

Publisher

तानों से तंग पत्नी ने मांगा तलाक, वैष्णो देवी के दर्शन कर लौटे तो हो गया सेटेलमेंट

Publisher

महाराष्ट्र- सुप्रीम कोर्ट ने सभी पक्षों के तर्क सुने, फ्लोर टेस्ट पर कल सुनाएगी फैसला

Publisher

Leave a Comment